कार या बाइक हो जाए चोरी तो इन 5 स्टेप से मिलेगा क्लेम - Latest Hindi Khabar

Breaking

Post Top Ad

शुक्रवार, 8 फ़रवरी 2019

कार या बाइक हो जाए चोरी तो इन 5 स्टेप से मिलेगा क्लेम

how to get claim if bike and car stolen

आजकल बाइक या कार चोरी की घटनाएं आम हो गई हैं। कभी आपको भी इस समस्या से जूझना पड़ा तो आपको काफी परेशानी हो सकती है। इस परेशानी से जूझने के बजाय आपको उससे निपटने के लिए कुछ जरूरी कदम उठाने चाहिए। अगर आपकी बाइक या कार चोरी हो जाती है तो इस तरीके से आप नुकसान से बच सकते हैं।


सबसे पहले जुटाए डॉक्यूमेंट्स 

आपको अपने पास अपनी गाड़ी की आरसी बुक, इंश्योरेंस की कॉपी और ड्राइविंग लाइसेंस की कॉपी रखनी चाहिए। ताकि जरूरत पड़े तो कभी भी इन डाक्यूमेंट्स को जमा किया जा सके।

पुलिस में करें कंप्लेंट 

अगर आपकी बाइक या कार चोरी हो जाती है तो सबसे पहले एक एप्लीकेशन पर पूरा विवरण लिखकर पुलिस में जमा करें। कंप्लेंट करने के साथ ही गाड़ी के रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट और इंश्योरेंस की कॉपी भी जमा करवाएं। इसके बाद पुलिस एफआईआर दर्ज करेगी।

इंश्योरेंस कंपनी को दें गाड़ी चोरी होने की जानकारी 

how to get claim if bike and car stolen

गाड़ी चोरी होने की जानकारी इंश्योरेंस कंपनी को जरूर दें। इसके बाद क्लेम फॉर्म, आरसी की कॉपी, इंश्योरेंस पॉलिसी की कॉपी और एफआईआर की कॉपी इंश्योरेंस कंपनी में जमा करवाएं। क्लेम करने में किसी भी प्रकार की देरी ना करें। सारे डॉक्यूमेंट एक साथ ही जमा करें।

रोड ट्रांसपोर्ट ऑफिस ( आरटीओ ) को दें सूचना

इंश्योरेंस कंपनी के पास क्लेम फाइल करने के बाद आप अपने एरिया के आरटीओ ऑफिस में वाहन के चोरी होने की जानकारी दें। इसके लिए आप एक कंप्लेंट लेटर लिख कर जमा करें। इस लेटर के साथ आप ड्राइविंग लाइसेंस की कॉपी, आरसी बुक की कॉपी, व्हीकल की फोटो, इंश्योरेंस पॉलिसी की कॉपी और एफआईआर की कॉपी भी जमा करें। इससे आपको इंश्योरेंस पाने में मदद मिलती है। ध्यान रहे कि कंप्लेंट करने के बाद रिसीविंग जरूर ले लें।

करें फॉलोअप

how to get claim if bike and car stolen

अगर वाहन चोरी होने के 90 दिनों के भीतर पुलिस उसको नहीं ढूंढ पाती है तो वो नो ट्रेस रिपोर्ट जारी करेगी। आप इस रिपोर्ट को इंश्योरेंस कंपनी के पास जमा करवाएं।

इंश्योरेंस कंपनी देगी क्लेम 

इंश्योरेंस कंपनी घटना की पूरी रिपोर्ट तैयार करने के लिए एक सर्वेयर को नियुक्त करती है। यह सर्वेयर आपको घटना का ब्योरा जानने के लिए बुलाते हैं। जब सर्वेयर रिपोर्ट तैयार कर देते हैं तो इंश्योरेंस कंपनी कार या बाइक की एश्‍योर्ड वैल्यू का भुगतान करेगी। यानी कि उस वक्त कार या बाइक की जितनी कीमत रही होगी। इंश्योरेंस कंपनी आपको उसी हिसाब से क्लेम देगी।
loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें