मॉरीशस की सदियों पुरानी गुफा में बनेगा चित्रमय राम मंदिर, कुंभ के बाद शुरू होगा निर्माण कार्य - Latest Hindi Khabar

Breaking

Post Top Ad

गुरुवार, 7 फ़रवरी 2019

मॉरीशस की सदियों पुरानी गुफा में बनेगा चित्रमय राम मंदिर, कुंभ के बाद शुरू होगा निर्माण कार्य

lord ram temple in mauritius

भले ही अयोध्या में राम मंदिर अभी तक ना बन पाया हो। लेकिन प्रभु श्री राम का चित्रमय मंदिर मॉरीशस की सदियों पुरानी एक गुफा में बनने जा रहा है। कुंभ खत्म होने के बाद मूर्तियों और भित्ति चित्र बनाने का काम शुरू हो जाएगा। वहां की सरकार ने चित्रमय राम मंदिर बनाने की मंजूरी दे दी है। जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर उमाकांतानंद सरस्वती ने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए मॉरीशस में अलख जगा दी है। अयोध्या में निर्माण कार्य शुरू होता है तो हजारों की संख्या में श्रद्धालु सेवा करने जरूर आएंगे।


कुछ सालों पहले महामंडलेश्वर स्वामी उमाकांतानंद जी ने मॉरीशस के मारीशस के पौ बोजे के पहाड़ी इलाके में शाश्वतम इंटरनेशनल शांतिनिकेतन की स्थापना की। संयोगवश वहां सदियों पुराने गुफा मिल गई, जो लगभग डेढ़ सौ मीटर लंबी है। इस गुफा में पहाड़ों से एक छोटी-सी धारा और पेड़ पौधे भी हैं।उमाकांतानंद सरस्वती ने अपने भक्तों से उस गुफा में प्रभु राम के जीवन से संबंधित झांकियां और मूर्तियां सुसज्जित करवाने की बात की।

lord ram temple in mauritius

मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जुगनाथ ने इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया। जानकारी के लिए बता दें कि प्रधानमंत्री प्रविंद जुगनाथ के पिता अनिरुद्ध जुगनाथ भी मॉरीशस के प्रधानमंत्री रह चुके हैं। सरोजिनी अनिरुद्ध जगन्नाथ और उनकी पत्नी सरोजिनी ने स्वामी उमाकांतानंद जी से दीक्षा ली थी। अनिरुद्ध और सरोजिनी ने ही वहां की सरकार से प्रभु राम के मंदिर निर्माण के लिए सिफारिश की थी।


इस गुफा में रामायण से संबंधित झांकियां और मूर्तियां भित्ति चित्र पत्थरों पर उकेरे जाएंगे। साथ ही रामायण की चौपाइयों को भी दीवार पर अंकित किया जाएगा। उमाकांत जी ने बताया कि भारत से लेकर मॉरीशस तक वे राम मंदिर के निर्माण की मुहिम चला रहे हैं। मॉरीशस में उनके हजारों भक्त इंतजार में बैठे हैं कि कब अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण कार्य शुरू हो और सेवा के लिए वे अयोध्या आएं।

lord ram temple in mauritius

पूर्व प्रधानमंत्री अनिरुद्ध की पत्नी के नाम पर होगा मंदिर 

मॉरीशस की सदियों पुरानी गुफा में प्रस्तावित मंदिर पूर्व प्रधानमंत्री अनिरुद्ध जुगनाथ की पत्नी सरोजिनी के नाम पर होगा, क्योंकि इस गुफा में मंदिर बनाने की सहमति दिलाने में सरोजिनी का बहुत बड़ा हाथ रहा है। उनके और अनिरुद्ध जुगनाथ के प्रयासों के कारण ही मॉरीशस की गुफा में मंत्रिमंडल से मंदिर बनाने की अनुमति मिली है। इसी कारण मंदिर का नाम सरोजनी के नाम पर रखने का निर्णय लिया गया है।
loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें