आजादी की लड़ाई लड़ चुकी थी ये एक्ट्रेस, बॉलीवुड के 2 फेमस एक्टर हैं इनके दामाद - Latest Hindi Khabar

Breaking

Post Top Ad

सोमवार, 4 मार्च 2019

आजादी की लड़ाई लड़ चुकी थी ये एक्ट्रेस, बॉलीवुड के 2 फेमस एक्टर हैं इनके दामाद

dina pathak

अपने समय की जानी-मानी अभिनेत्री दीना पाठक का जन्म 4 मार्च, 1922 को गुजरात के अमरेली में हुआ। दीना पाठक ने केवल एक्टिंग ही नहीं की, बल्कि वे देश की आजादी की लड़ाई में भी भागीदार रही। आपको जानकर बहुत आश्चर्य होगा कि दीना पाठक जिंदगी भर किराए के मकान में रही। जीवन के अंतिम दिनों में उन्होंने एक घर खरीदा।


80 साल की उम्र में दीना पाठक की 11 अक्टूबर, 2002 को मुंबई में मृत्यु हो गई। दीना की दो बेटियां हैं जो कि अभिनय के क्षेत्र में अपना नाम कमा चुकी हैं। दीना की बड़ी बेटी का नाम रत्ना पाठक, जबकि छोटी बेटी का नाम सुप्रिया पाठक हैं। आज हम आपको दीना पाठक के जीवन से जुड़े पांच हैरान कर देने वाले किस्से बताने जा रहे हैं। आइए जानते हैं

dina pathak

दीना को सेंट जेवियर्स कॉलेज से निकाला गया 

दीना पाठक ने अपनी काबिलियत के दम पर फिल्मी जगत में सफलता हासिल की। फिल्मों में दीना को देखकर ऐसा लगता था कि पड़ोस में रहने वाली कोई बुजुर्ग महिला या अपनी दादी मां हो। दीना पाठक स्वतंत्रता आंदोलन में भी भागीदार रहीं। जिस कारण उन्हें मुंबई के सेंट जेवियर्स कॉलेज से निकाल दिया गया।

dina pathak

दिलीप कुमार के कपड़े डिजाइन करते थे दीना पाठक के पति 

दीना पाठक ने मार्च 1979 में फिल्मफेयर पत्रिका में बताया था कि- कॉलेज से निकाले जाने के बाद उन्होंने दूसरे कॉलेज से बीए की डिग्री हासिल की। इसके बाद दीना की शादी बलदेव पाठक से हुई। दीना के पति बलदेव मुंबई में गेटवे ऑफ इंडिया के पास कपड़े सिलने की दुकान चलाते थे। वे राजेश खन्ना, दिलीप कुमार जैसे मशहूर बॉलीवुड स्टार्स के कपड़े डिजाइन करते थे। बलदेव ने राजेश खन्ना के लिए गुरु कुर्ता और अन्य कपड़े डिजाइन किए थे।
'


दीना ने 120 से ज्यादा फिल्मों में किया अभिनय

दीना के पति बलदेव अपने आप को भारत का पहला डिजाइनर कहते थे। लेकिन राजेश खन्ना के फ्लॉप फिल्मी करियर के बाद उनकी कमाई में भी गिरावट होने लगी। जिसका असर बलदेव की कमाई पर भी पड़ा। बाद में बलदेव को अपनी दुकान बंद करनी पड़ी। 52 साल की उम्र में बलदेव का निधन हो गया। दीना ने अपने करियर में 120 से ज्यादा फिल्मों में काम किया। दीना पाठक 60 साल तक अभिनय के क्षेत्र में सक्रिय रही। शुरूआत में दीना ने गुजराती थिएटर में भी काम किया। दीना की बड़ी बेटी रत्ना ने नसरुद्दीन के साथ शादी की। जबकि उनकी छोटी बेटी सुप्रिया पाठक ने पंकज कपूर से शादी की।

dina pathak

जब मां बेटी बन गई एक-दूसरे की दोस्त 

पहले दीपीना और उनकी बड़ी बेटी रत्ना में काफी लड़ाई-झगड़े होते थे। रत्ना का कहना है कि- बाद में हमारा रिश्ता अलग हो गया। हम एक-दूसरे के अच्छे दोस्त बन गए। मैं किसी भी बारे में उनसे बात कर सकती थी। लेकिन जब वे हमें छोड़ कर चली गई, तो वे मेरी अच्छी दोस्त बन गई थी।

dina pathak

फिल्म खूबसूरत में बनी गुप्ता परिवार की कड़क मुखिया 

फिल्म खूबसूरत में दीना पाठक गुप्ता परिवार की कड़क मुखिया निर्मला गुप्ता के किरदार में नजर आई।1979 में दीना गुलजार की फिल्म मीरा में राजा बीरमदेव की रानी कुंवरबाई का किरदार निभाया। ऐसी ही कई फिल्मों में दीना पाठक ने अपने अभिनय के द्वारा दर्शकों के दिल पर अपनी छाप छोड़ी।
loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें